30.1 C
Varanasi
Monday, September 26, 2022
spot_img

Shehbaz Sharif meets French president Emmanuel Macron on the sidelines of UNGA Session, Pakistan foreign policy | Shehbaz Sharif: इमरान ने बनाई थी दूरी, अब PM मोदी के इस दोस्त से मिले शहबाज; डिकोड हुआ PAK का सीक्रेट प्लान


Shehbaz Sharif meets Emmanuel Macron: पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ अपनी कैबिनेट के मंत्रियों और कुछ अधिकारियों के साथ अमेरिका में है. पाकिस्तान की सरकार का एक बड़ा प्रशासनिक अमला संयुक्त राष्ट्र संघ संघ की बैठकों से इतर अपने एजेंडे पर लगातार काम कर रहा है.

फ्रांस के राष्ट्रपति से मिले शहबाज

दरअसल अभी कुछ घंटों पहले शहबाज शरीफ ने फ्रांस के राष्‍ट्रपति से मुलाकात की है. कूटनीति के जानकारों के मुताबिक इस मुलाकात के जरिए शहबाज शरीफ ने भारत (India) के दोस्‍त और फ्रांस के राष्‍ट्रपति को साधने की कोशिश की है. गौरतलब है कि पाकिस्तान की पिछली पीटीआई सरकार के मुखिया इमरान खान (Imran Khan) ने फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रो का फोन भी नहीं उठाया था अब इसके उलट शहबाज अब उन हस्तियों को अपने पाले में करने में जुटे हैं जो इमरान खान के विरोधी हैं या जिन्हें इमरान खान पसंद नहीं करते हैं.

एक तीर से दो निशाने

माना जा रहा है कि इस मुलाकात के जरिए पाकिस्‍तानी पीएम शरीफ अपने मुल्क पाकिस्‍तान को एफएटीएफ (FATF) की ग्रे लिस्‍ट से निकालने के लिए अपनी कोशिशों की शुरुआत कर चुके हैं. दरअसल फ्रांस यूरोपीय यूनियन का प्रमुख सदस्‍य देश है, इसके साथ ही फ्रांस, संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद का एक स्‍थायी सदस्य देश है. शरीफ को ये भी लगता है कि FATF का प्रमुख सदस्‍य देश होने के नाते फ्रांस, उनके देश को FATF की ग्रे लिस्‍ट से बाहर निकालने में मददगार बन सकता है.

इस मीटिंग के जरिए पाकिस्‍तानी पीएम शहबाज ने अपने देश में कट्टरपंथियों की वजह से फ्रांस के साथ आई रिश्‍तों में खटास और तल्‍खी को कुछ कम करने की कोशिश की है. इस मीटिंग की टाइमिंग भी अहम है क्योंकि बीते कई सालों में फ्रांस और भारत के बीच संबंध लगातार प्रगाढ़ हो रहे हैं. जबकि दूसरी तरफ फ्रांस और पाकिस्‍तान के शीर्ष नेताओं के बीच 7 साल के बाद पहली बार यह बैठक हुई है.

शहबाज की मुहिम में जुटे ये मंत्री

शहबाज शरीफ के साथ उनके विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो (Bilawal Bhutto), वित्त मंत्री मिफ्ता इस्माइल, विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी खार और सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब भी यूएनजीए के मंच का इस्तेमाल एक तीर से कई निशाने साधने में कर रहे हैं. इस मुलाकात के बाद कहा गया है कि फ्रांस इस साल के आखिर तक एक इंटरनेशनल सम्मेलन का आयोजन करेगा ताकि बाढ़ प्रभावित पाक‍िस्‍तान के पुर्नवास में मदद की जा सके. 

(एजेंसी इनपुट के साथ)

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट #news.com/Hindi पर



Credit : http://zeenews.india.com

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles