putin Critically ill seemed to be struggling and uncomfortable in meeting Words didn’t come from his throat | हाथ के बाद पुतिन के शरीर के इस अंग में ‘बीमारी’ आई सामने, भरी मीटिंग में खुल गई पोल


Putin critically unwell: रूस और यूक्रेन युद्ध के बीच राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की हालत है. हाल के एक मीटिंग में वो घबराए हुए नजर आए. उस दौरान के हाथ गुलाबी हो गए थे और उन्होंने जोर से अपनी कुर्सी को पकड़ लिया था. ऐसी अफवाह भी महीनों से घूम रही है कि पुतिन गंभीर रूप से बीमार हैं. उन्हें कई गंभीर बीमारियां हैं. साथ ही यूक्रेन के साथ हो रहे युद्ध की वजह से उनके तनाव का स्तर भी काफी बढ़ गया है. ये भी उनकी सेहत के खराब होने की एक बड़ी वजह मानी जा रही है. हाल में वो एक मीटिंग में थे और यूक्रेन के साथ युद्ध में मारे गए सैनिकों के परिवार वालों से बात कर रहे थे लेकिन तबीयत खराब होने की वजह से वो कुछ भी नहीं कर पाए.

इस मीटिंग के दौरान उन्होंने केक की एक बाइट ली लेकिन इसमें भी वो खुद से संघर्ष करते और असहज नजर आए. उनकी आवाज नहीं निकल पा रही थी, उनका गला भी फंसा लग रहा था. क्यूबा के नेता, राष्ट्रपति मिगुएल डियाज-कैनेल के साथ बैठक के दौरान पुतिन के हाथ का रंग फीका पड़ गया. उनके हथेली का रंग गुलाबी हो गया था. शरीर फूला हुआ दिख रहा था.ं

मां के लिए बेटे का जाना बहुत दर्दनाक- पुतिन

युद्ध में जान गंवाने वाले सैनिकों की माताओं से मुलाकात का कार्यक्रम बेहद सोच-समझकर तय किया गया था. इस कार्यक्रम का उद्धेश्य यह बताना था पुतिन भी उनके दर्द को समझते हैं. उन्होंने कहा,  ‘मैं चाहता हूं कि आप यह जान लें कि मैं और देश का पूरा नेतृत्व आपके दर्द और अहसास से वाकिफ हैं. हमारी दिल से आप सभी के साथ संवेदना है.

उन्होंने कहा, हम समझते हैं कि एक बेटे के नुकसान की भरपाई कुछ भी नहीं कर सकता, विशेष रूप से एक मां के लिए ये बहुत मुश्किल होता है और हम इस दर्द को समझते हैं.

पुतिन की हालत खराब है, ऐसे पता चला

पुतिन की खराब हालत की जानकारी तब मिली जब सैनिकों की माताओं ने उन्हें खरी-खोटी सुनाना शुरू किया. उन्होंने कहा कि उनके बेटों को तोप के चारे के रूप में इस्तेमाल किया गया. इसी दौरान पुतिन असहज हो गए. हालांकि, रूसी मीडिया ने इस पूरे मामले को सावधानीपूर्वक हैंडल किया. यही कारण है कि इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि जिन लोगों के साथ उन्होंने बात की थी, वास्तव में युद्ध में उनके बच्चों की मौत हुई थी या नहीं.

डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक मीटिंग में मौजूद कुछ महिलाओं की पहचान पुतिन की वफादार के रूप में हुई है. 70 साल के पुतिन भारी तनाव से गुजर रहे हैं. यूक्रेन के साथ युद्ध की वजह से उनकी तबीयत लगातार खराब बताई जा रही है. अफवाहों की मानें तो पुतिन कैंसर से भी पीड़ित हैं.

पाठकों की पहली पसंद VDNnews.com/Hindi, अब किसी और की जरूरत नहीं



Credit : http://zeenews.india.com

Related Articles

Latest Articles

Top News