29.1 C
Varanasi
Monday, September 26, 2022
spot_img

Coronaviurs: Covid-19 pandemic is not over, but yes end is near, says WHO | Coronaviurs को लेकर WHO ने दी चेतावनी, कहा- अभी खत्म नहीं हुआ वायरस लेकिन..


WHO on Coronaviurs: भारत समेत दुनियाभर के देशों में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण धीरे-धीरे कम होने लगा है, लेकिन इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेतावनी दी हैं और कोविड-19 (Covid-19) को लेकर सावधान रहने को लेकर आगाह किया है. डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई कमजोर न पड़े और महामारी से आर्थिक और स्वास्थ्य क्षति को रोकने के लिए समन्वित कार्रवाई और राजनीतिक प्रतिबद्धता अभी भी जरूरी है.

महामारी खत्म नहीं हुई है, लेकिन अंत करीब: WHO

डब्ल्यूएचओ (WHO) के महानिदेशक ट्रेडोस एडनॉम घेबियस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने एक प्रेस वार्ता में कहा, ‘कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) खत्म नहीं हुई है, लेकिन हां, अंत करीब है.’ उन्होंने कारणों का हवाला देते हुए कहा कि महामारी अभी भी प्रति सप्ताह 10,000 लोगों की मौत का कारण बन रही है, जिनमें से अधिकांश को रोका जा सकता है.

बचाव के लिए करने होंगे ये उपाय

ट्रेडोस एडनॉम घेबियस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने आगे कहा, ‘इसका मतलब है कि हर किसी को जरूरत पड़ने पर, सुरक्षित रहने के लिए उपलब्ध सरल तरीकों का उपयोग करने की जरूरत है. जैसे- दूरी बनाए रखना, मास्क और वेंटिलेशन. और इसका मतलब है कि सभी को सुरक्षित रहने के लिए चिकित्सा उपकरणों तक पहुंच की आवश्यकता है जैसे टीके, परीक्षण और उपचार.’

कोरोना के खिलाफ अब भी जरूरी हैं बचाव

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ट्रेडोस एडनॉम घेबियस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) की टिप्पणी एसीटी-एक्सेलरेटर फैसिलिटेशन काउंसिल के एक कार्यकारी समूह के रूप में आई, जिसने अपनी नवीनतम रिपोर्ट जारी की है, जिसमें चेतावनी दी गई कि वैश्विक महामारी खत्म नहीं हुई है और शिथिल पड़ने की जरूरत नहीं है.

रिपोर्ट का निष्कर्ष है कि कई देश टीकाकरण कवरेज, परीक्षण दरों और उपचार और पीपीई तक पहुंच पर वैश्विक लक्ष्यों को पूरा करने से बहुत दूर हैं. जबकि ,प्रगति की जा रही है, कोविड-19 का वैश्विक खतरा खासकर निम्न-आय वाले देशों में खत्म नहीं हुआ है. रिपोर्ट के अनुसार, उच्च आय वाले देशों में लगभग 75 प्रतिशत की तुलना में कम आय वाले देशों में कोविड-19 टीकाकरण दर केवल 19 प्रतिशत है और निम्न और निम्न-मध्यम आय वाले देशों में मौखिक एंटीवायरल सहित नए जीवन रक्षक कोविड-19 उपचारों का रोल-आउट सीमित या न के बराबर है.
(इनपुट- न्यूज एजेंसी आईएएनएस)

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट #news.com/Hindi पर



Credit : http://zeenews.india.com

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles