Varanasi Daggamar Vehicle Operators News : कोरोना काल के दोरोना डग्गामार वाहन संचालकों की दबंगई, बस स्टेशन के सामने से सवारियों को कर रहे है हाईजैक

Varanasi Daggamar Vehicle Operators News : कोरोना काल के दोरोना डग्गामार वाहन संचालकों की दबंगई, बस स्टेशन के सामने से सवारियों को कर रहे है हाईजैक

Varanasi Daggamar Vehicle Operators News : कोरोना काल में डग्गामार वाहन संचालकों की दबंगई और बढ़ गई है । प्राइवेट वाहन संचालक रोडवेज बस स्टेशन के सामने से सवारियों को हाईजैक कर ले रहे हैं ।

रोडवेज कर्मियों के विरोध पर मारपीट की धमकी दी जाती है । वाराणसी-जौनपुर, केराकत, आजमगढ़, प्रयागराज रूट पर डग्गामार वाहन धड़ल्ले से दौड़ रहे हैं ।

खुलेआम दबंगई के बावजूद पुलि, ट्रैफिक और आरटीओ के अधिकारी कुछ नहीं कर पा रहे हैं, जबकि रोडवेज के अधिकारी पूर्व में कई बार जिला प्रशासन को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग कर चुके हैं ।

रोडवेज बस स्टेशन परिसर के सामने सड़क और कैंट रेलवे स्टेशन के सामने से डग्गामार वाहनों का संचालन होता है । सुबह के समय इनकी सबसे अधिक अराजकता रहती है ।

हर कोई खा जाए गच्चा

आरटीओ और पुलिस प्रशासन की आंख में धूल झोंकने का डग्गामार वाहन संचालकों ने नायाब तरीका निकाल रखा है । डग्गामार बसों को हूबहू रोडवेज के रंग में रंग दिया है ।

यही नहीं, बस पर ‘उतर प्रदेश पं सं’ लिखकर यात्रियों सहित आरटीओ व पुलिस को गुमराह करने की कोशिश करते हैं । हालांकि आरटीओ विभाग के अधिकारी इस धोखाधड़ी के बारे में बखूबी जानते हैं, पर वो खामोश ही रहते हैं ।

दौड़ रहे 250 से अधिक डग्गामार वाहन

कोरोना काल से पूर्व रोडवेज ने सर्वे कराकर विभिन्न रूटों पर छोटी व बड़ी करीब 250 डग्गामार वाहनों को नंबर सहित चिह्नित किया था । बकायदा एक लिस्ट जारी की गई थी ।

किस रूट पर कितने डग्गामार वाहन दौड़ रहे हैं, जिसमें वाराणसी-जौनपुर मार्ग, वाराणसी-आजमगढ़ मार्ग, वाराणसी-प्रयागराज, वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग शामिल थे ।

राष्ट्रीयकृत मार्ग पर नहीं चल सकते डग्गामार वाहन

रोडवेज अधिकारियों के अनुसार प्रयागराज और आजमगढ़ दोनों राष्ट्रीयकृत मार्ग है । इन रूटों पर प्राइवेट बसों को सवारी में चलाने की अनुमति नहीं होती है । फिर भी डग्गामार वाहनों की आवाजाही इस मार्ग पर बेरोकटोक जारी है ।

वहीं डग्गामार वाहनों का संचालन करने वाले अधिकतर सत्ता पक्ष से जुडे़ होते हैं । उनका रसूख परिवहन विभाग में भी रहता है । इसके कारण पुलिस व आरटीओ के अधिकारी भी हाथ डालने से कतराते हैं ।

डग्गामार वाहनों को हटाने के अभियान को लेकर रोडवेज स्टेशन परिसर में कई घटनाएं हो चुकी हैं । यहां तक कि एक बस माफिया पूर्व क्षेत्रीय प्रबंधक के कार्यालय में असलहा लेकर धमकाने पहुंच गए थे । उस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई थी ।

इन्हें भी पढ़ें :-

  1. एक बार फिर सुपर स्पेशियलिटी कॉम्पलेक्स से कोरोना मरीज लापता, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम उसे ढूंढने में लगी
  2. बीएचयू के सुपर स्पेशियलिटी कांप्लेक्स में जाली वाली खिड़किया लगवाई जाएगी, जाने इन 10 पॉइंट में क्या था मामला
  3. वाराणसी में कोरोना से तीन मरीजों की मौत और 129 संक्रमित मिले
  4. तंदूर विला रेस्टोरेंट के पुलाव में निकला काकरोच, शिकायत मिलने पर हड़कंप मचा
  5. वाराणसी बीएचयू के सुपर स्पेशियलिटी कांप्लेक्स से फिर भागा कोरोना मरीज

INSTALL VARANASI NEWS APP FROM PLAY STORE