शाहजहांपुर एक ऐसी बेटी जो दोनों आंखों पर पट्टी बांधकर फर्राटे से पढ़ती है किताब

शाहजहांपुर एक ऐसी बेटी जो दोनों आंखों पर पट्टी बांधकर फर्राटे से पढ़ती है किताब

करत-करत अभ्यास के, जड़मति होत सुजान, रसरी आवत जात तें, सिल पर परत निसान…यह कहावत हम सभी ने बचपन में पढ़ी होगी। लेकिन इसे सच कर दिखाया है उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में रहने वाली 15 साल की प्रार्थना भटनागर ने।

परिवार में बड़ी बेटी प्रार्थना अपनी आंखों पर काली पट्टी बांधकर बिना देखे कुछ भी पढ़ सकती है। इतना ही नहीं पैरों के पंजे से छूकर किसी भी वस्तु के रंग को सटीक बता सकती है। उसे दुनियाभर की 14 भाषाओं का ज्ञान है।

मध्यम परिवार की साधारण सी प्रार्थना ने यह सबकुछ अपने पिता के सहयोग से महज तीन माह में सीखा है।छात्रा के पिता पुनीत भटनागर 2015 से पहले कई अखबारों में पत्रकारिता कर चुके हैं। उनकी पत्नी इन्कम टैक्स विभाग की वकील हैं।

पिता ने बताया कि, 2015 के बाद वह नौकरी से थक चुके थे। लेकिन कुछ अलग और अपना काम करना चाहते थे। तब उनको जापान में इजाद हुई मिड ब्रेन एक्टिवेशन टेक्नालॉजी के बारे में पता चला। ज्यादा जानकारी जुटाने पर मालूम हुआ कि,

ये टेक्नालॉजी सबसे पहले गुजरात में आई है। टेक्नोलॉजी को समझाने के लिए 2015 में परिवार के साथ पुनीत गुजरात गए। वहां उन्होंने और उनकी पत्नी ने ट्रेनिंग ली, उसके बाद खुद की मिड ब्रेन पाॅवर एक्टिवेशन एकेडमी के नाम से कंपनी बनाई

और उसके बाद वह डिस्ट्रीब्यूटर बन गए। लेकिन रिसर्च सबसे पहले खुद की बेटी पर किया। जिसमें तीन माह की मेहनत से पूरी तरह से कामयाबी मिली और आज उनकी बेटी साधारण बच्चों की तरह नहीं, बल्कि एक जीनियस बच्ची कहलाने लगी है।

इन्हें भी पढ़ें :-

1.वाराणसी में कुछ दिन पहले लापता पत्नी और बच्चे शाहजहांपुर से बरामद, पुलिस पर लापरवाही का  आरोप

2.कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बांह में काली पट्टी बांधकर शास्त्री पार्क व कोतवाली के बाहर धरना दिया।

3. ईमानदार दरोगा धर्मराज ने 1.96 लाख रुपये से भरा सूटकेस वापस लौटाया । सूटकेस पाते ही महिला के आंखों से आंसू

INSTALL VARANASI NEWS APP FROM GOOGLE PLAY STORE

This image has an empty alt attribute; its file name is Download-Varanasi-Daily-News-Android-Apps.jpg.webp