मायावती ने कहा-सपा ने विश्वासघात किया,एमएलसी चुनाव में भाजपा को खुलकर समर्थन करेगी बसपा

मायावती ने कहा-सपा ने विश्वासघात किया,एमएलसी चुनाव में भाजपा को खुलकर समर्थन करेगी बसपा

उत्तर प्रदेश में 10 सीटों पर होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर सपा और बसपा के बीच तल्खी बढ़ गई है। बसपा प्रमुख मायावती ने गुरुवार को बागी हुए सात विधायकों को पार्टी से निकाल दिया है। मायावती ने कहा

कि इन विधायकों की विधानसभा की भी सदस्यता रद्द करवाने के लिए भी अपील करेंगे। सपा प्रमुख पर आरोप लगाते हुए मायावती ने कहा की पार्टी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा का अखिलेश यादव ने फोन तक नहीं उठाया।

सपा ने मेरे खिलाफ बहुत बड़ी साजिश रची थी, एसपी के साथ जो गठबंधन का फैसला था, वह पूर्णतया गलत था। मायावती ने ऐलान किया कि आगामी एमएलसी के चुनाव में उनकी पार्टी और विधायक भाजपा का समर्थन करेंगे।

जिससे सपा को साजिश करने का उन्हें फल मिल सके।राज्यसभा के नामांकन पत्रों की जांच के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने समाजवादी पार्टी के मुखिया रहे मुलायम सिंह और मुखिया अखिलेश यादव पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

उन्होंने कहा कि सपा से गठबंधन का फैसला हमारा गलत था। सपा परिवार के अंदर लड़ाई थी, जिसकी वजह से गठबंधन कामयाब नहीं हुआ। सपा सरकार में मेरी हत्या का षड्यंत्र किया गया था। सपा से गठबंधन के दौरान

गेस्ट हाउस कांड का मुकदमा वापस लेने का फैसला हमारी बड़ी गलती थी। एमएलसी के चुनाव में समाजवादी पार्टी को बसपा जवाब देगी। अखिलेश यादव के पिता ने भी हमारे विधायक तोड़े थे, जिनकी राह पर अखिलेश यादव चल रहे हैं।

मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में सपा की बहुत बुरी हार होगी, पिता की तरह अखिलेश गलत रास्ते पर चल रहे हैं। अखिलेश यादव ने महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा का फोन नहीं उठाया।

सतीश चंद्र मिश्रा के द्वारा अखिलेश यादव के निजी सचिव को भी फोन किया गया, तब भी उन्होंने बात नहीं कराई। तब सतीश चंद्र मिश्रा ने रामगोपाल यादव से फोन पर बात करने के बाद अपना प्रत्याशी मैदान में उतारा है।

इनका दलित विरोधी चेहरा हमें कल राज्यसभा के पर्चों के जांच के दौरान देखने को मिला। जिसमें सफल न होने पर ये ‘खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे’ की तरह पार्टी जबरदस्ती बसपा पर भाजपा के साथ सांठगांठ करके चुनाव लड़ने का गलत आरोप लगा रही है।

इन्हें भी पढ़ें :-

1.मायावती ने कहा- सीबीआई जांच हो या सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में, भीम आर्मी ने विधानसभा के सामने प्रदर्शन किया

2.प्रियंका गांधी और मायावती का योगी सरकार पर हमला दोनों ने ट्वीट कर आपत्ति जताई

3.योगी से मिलने से पहले मायावती पर बरसे केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले।

INSTALL VARANASI NEWS APP FROM GOOGLE PLAY STORE

This image has an empty alt attribute; its file name is Download-Varanasi-Daily-News-Android-Apps.jpg.webp