Phogat sexual harassment claim BJP MP WFI chief Brijbhushan Sharan Singh will hang myself – India Hindi News – विनेश फोगाट ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप, भाजपा सांसद बोले


ऐप पर पढ़ें

भारतीय कुश्ती महासंघ के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह ने बुधवार को देश के शीर्ष पहलवानों द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के दावों को खारिज करते हुए कहा कि ‘अगर ऐसा कुछ हुआ है, तो मैं खुद को फांसी लगा लूंगा’। बता दें कि विनेश फोगाट ने एक चौंकाने वाले खुलासे में बुधवार को रोते हुए आरोप लगाया था कि भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह कई वर्षों से महिला पहलवानों का यौन शोषण कर रहे हैं। पहलवानों ने उन्हें हटाने के लिए प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के हस्तक्षेप की मांग की।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, भाजपा सांसद ने कहा, “यौन उत्पीड़न की कोई घटना नहीं हुई है।” डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष की ये सफाई ऐसे समय में आई है जब कई पहलवानों ने आरोप लगाया है कि उनके साथ यौन उत्पीनड़न हुआ। विश्व चैंपियनशिप की पदक विजेता और ओलंपियन विनेश ने दावा किया कि लखनऊ में राष्ट्रीय शिविर में कई कोच ने भी महिला पहलवानों का शोषण किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि शिविर में कुछ महिलाएं हैं जो डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष के कहने पर पहलवानों से संपर्क करती हैं।

मैं जांच के लिए तैयार, भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह 

भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने कहा, “क्या कोई सामने आया है जो कह सके कि फेडरेशन ने किसी एथलीट को प्रताड़ित किया…क्या उन्हें पिछले दस सालों से फेडरेशन से कोई समस्या नहीं थी? मुद्दे तब सामने आते हैं जब नए नियम और कानून लाए जाते हैं।” उन्होंने कहा, “यौन उत्पीड़न एक बड़ा आरोप है। जब मेरा खुद का नाम इसमें घसीटा गया है तो मैं कैसे कार्रवाई कर सकता हूं? मैं जांच के लिए तैयार हूं।”

मेरा खुद का शोषण नहीं हुआ है- विनेश

इस 28 साल की पहलवान ने हालांकि स्पष्ट किया कि उन्होंने खुद इस तरह के शोषण का सामना नहीं किया है। उन्होंने दावा किया कि उन्हें डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष के इशारे पर उनके करीबी अधिकारियों से जान से मारने की धमकी मिली थी, क्योंकि उन्होंने तोक्यो ओलंपिक खेलों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान उनका ध्यान इन मुद्दों पर आकर्षित करने का हिम्मत दिखायी थी।

यहां के जंतर मंतर पर चार घंटे से अधिक समय तक धरने पर बैठने के बाद विनेश ने कहा, ‘‘ मैं कम से कम 10-12 महिला पहलवानों को जानती हूं जिन्होंने मुझे डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष से हुए यौन शोषण के बारे में बताया है। उन्होंने मुझे अपनी कहानियां सुनाईं। मैं अभी उनका नाम नहीं ले सकती लेकिन अगर हम देश के प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से मिलें तो मैं नामों का खुलासा जरूर कर सकती हूं।’’



Credit : https://livehindustan.com

Related Articles

Latest Articles

Top News