Delhi NCR strong earthquake tremors Today 24 January 2023 – India Hindi News


ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मंगलवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। हालांकि, इसमें जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ। भूकंप दोपहर को 2 बजकर 30 मिनट पर आया। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (NCS) ने बताया कि भूकंप का केंद्र नेपाल था। इसने कहा कि नेपाल में आज दोपहर 2:28 बजे रिक्टर पैमाने पर 5.8 तीव्रता का भूकंप आया। दिल्ली एनसीआर में 5 सेकेंड से ज्यादा देर तक धरती कांपती रही।

बता दें कि नए साल में दिल्ली में अब तक तीन बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। इससे पहले दिल्ली-एनसीआर के लोगों के लिए नए साल की शुरुआत भूकंप के झटकों के साथ हुई थी। इसके बाद 5 जनवरी को भी भूकंप आया था। 

मंगलवार को दिल्ली एनसीआर के अलावा, उत्तर प्रदेश के कई अन्य इलाकों में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। अभी तक रिएक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता और किसी नुकसान की सूचना नहीं थी। भूकंप के झटके महसूस होते ही, लोग सहम गए और घरों के बाहर दौड़ पड़े।  

नोएडा में एक ऊंची इमारत में रहने वाले शांतनु ने कहा, ‘‘भूकंप के झटकों से दहशत फैल गई।’’ दिल्ली के रहने वाले अमित पांडे ने कहा, ‘‘मैं सिविक सेंटर के एक ब्लॉक की पांचवीं मंजिल पर था। मैंने झटके महसूस किए।’’ दिल्ली नगर निगम के मुख्यालय सिविक सेंटर में कई लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए। उस दौरान सदन की बैठक हो रही थी। राजस्थान की राजधानी जयपुर के कुछ हिस्सों में भी झटके महसूस किए गए। जान-माल के नुकसान की अभी कोई सूचना नहीं मिली है।

जयपुर के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए

राजस्थान की राजधानी जयपुर के कुछ इलाकों में भी मंगलवार को भूकंप के झटके महसूस किये गये। मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी। विभाग ने बताया कि भूकंप के झटकों से जान माल का नुकसान नहीं हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार भूकंप का केंद्र नेपाल में था।

इससे पहले पांच जनवरी को अफगानिस्तान में 5.9 तीव्रता का भूकंप आया था। दिल्ली तथा आसपास के क्षेत्रों में भी इसके झटके महसूस किए गए थे। इसमें भी किसी के घायल होने या संपत्ति के नुकसान की कोई खबर नहीं आई। अफगानिस्तान के हिंदूकुश क्षेत्र में रात्रि करीब 7:55 बजे भूकंप आया था। भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के फायजाबाद के 79 किलोमीटर दक्षिण में 200 किलोमीटर की गहराई में था।



Credit : https://livehindustan.com

Related Articles

Latest Articles

Top News