Bageshwar Dham Maharaj Pandit Dhirendra Shashtri Babbar Sher Controversy Latest News in Hindi – India Hindi News


ऐप पर पढ़ें

Bageshwar Dham Maharaj: बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री सुर्खियों में बने हुए हैं। उन पर महाराष्ट्र में एक कथा को बीच में छोड़कर आने का आरोप है। कथित चमत्कारों पर उठ रहे सवाल के बीच बागेश्वर धाम के महाराज धीरेंद्र शास्त्री ने खुद को बब्बर शेर बताया है। एक इंटरव्यू में पंडित धीरेंद्र ने खुद पर लग रहे आरोपों का विस्तार से जवाब दिया। उन्होंने कहा कि सफाई देते हुए हमारी आंखें क्यों भरेंगी। हम तो बब्बर शेर हैं।

पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने इंटरव्यू में कहा, ”भारत हमेशा से विश्व गुरु रहा है। भारत में वैदिक प्राचीन परंपरा हैं, जिसकी वजह से विदेशी लोगों ने भी भारत को विश्व गुरु माना। हम भगवान की तरंग को लोगों तक और लोगों की अर्जी को भगवान के पास पहुंचाते हैं। मैं कोई तपस्वी नहीं हूं, लेकिन दिन-रात तपस्या में ही बीत रहा है। बचपन से ही हनुमान चालीसा का पाठ किया, गुरुजी ने जो विधान बताया उसे अनुभव किया। रातभर हवन किया और हनुमान भगवान के चरण में बैठकर रोए हैं। उसका ही परिणाम है जो आज सनातम धर्म का झंडा जगह-जगह गाड़ा जा रहा है। मिशनरियों के मुंह पर तमाचा पड़ा है।”

इस्लाम धर्म के शख्स की क्या करेंगे मदद? जानिए जवाब

पंडित धीरेंद्र शास्त्री से सवाल किया गया कि क्या इस्लाम धर्म का कोई शख्स आकर मदद मांगे तो करेंगे? इस पर महाराज ने कहा कि बिल्कुल करेंगे। उन्होंने कहा, ”हमसे कई मुस्लिम और ईसाई लोग जुड़े हैं। यूट्यूब पर लंबी लिस्ट है, जिसमें मुस्लिम भाई मिल जाएंगे। पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने ‘आजतक’ से बात करते समिति को धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि मीडिया को मैनेज करके कोई भी नाम फेमस हो सकता है, लेकिन सच्चाई नहीं होगी तो बोल्ड आउट हो जाएंगे। दिखाया गया कि सफाई देते-देते आंखें भर गई हैं।” 

‘सफाई देते-देते हमारी आंखें भरेंगी?’

पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने कहा, ”अरे सफाई देते-देते हमारी आंखें भरेंगी? हम बब्बर शेर हैं। हमने उनको रुला दिया है झंड़ा गाड़कर। लोगों को आंखें खुली करके देखना चाहिए।” पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि क्या भारत के इतिहास में किसी पादरी के खिलाफ न्यूज चैनलों ने एक्सपोज किया है? हम किसी भी प्रकार का शोषण नहीं करते हैं और न ही किसी कोई दक्षिणा लेते हैं। तीन साल से निशुल्क फ्री भंडारा करवाते हैं। हम दंगा नहीं करते और न ही शोषण करते हैं। सिर्फ श्रद्धा के नाम पर बालाजी की महिमा गाते हैं।   



Credit : https://livehindustan.com

Related Articles

Latest Articles

Top News