amit shah interview says congress number 2 in gujarat aam aadmi party zero – India Hindi News – PM मोदी के बाद अमित शाह भी बोले


ऐप पर पढ़ें

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात चुनाव में एक रैली के दौरान कहा था कि कांग्रेस गुपचुप प्रचार में जुटी है और उससे सावधान रहने की जरूरत है। नरेंद्र मोदी के इस बयान को गुजरात में कांग्रेस की मौजूदगी स्वीकार करने वाला माना गया था। अब होम मिनिस्टर अमित शाह ने भी कांग्रेस को ही मुख्य विपक्षी दल माना है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरे देश में संकट का सामना कर रही है और उसका असर गुजरात में भी दिख रहा है। उन्होंने आम आदमी पार्टी को लेकर भी भविष्यवाणी करते हुए कहा कि उसका गुजरात में खाता भी नहीं खुल सकेगा। उन्होंने कहा कि गुजरात में भी ऐंटी-रैडिकलाइजेशन सेल बनाने का ऐलान किया है। इसे दूसरे राज्य और केंद्र सरकार भी आगे बढ़ा सकते हैं।

अमित शाह ने पीटीआई को दिए इंटरव्यू में पीएम नरेंद्र मोदी पर निर्भरता को भी स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि गुजरात में पीएम मोदी की लोकप्रियता, समावेशी विकास और तुष्टीकरण की नीति से दूरी के चलते लोगों का भरोसा है। उन्होंने कहा कि यही कुछ फैक्टर हैं, जिनके चलते 27 सालों से लगातार भाजपा की सरकार रिपीट हो रही है। अमित शाह ने कहा, ‘भाजपा गुजरात में अब तक की सबसे बड़ी जीत हासिल करेगी। गुजरात के लोगों का हमारी पार्टी और पीएम नरेंद्र मोदी पर पूरा भरोसा है।’ खुद अमित शाह गुजरात चुनाव में काफी ऐक्टिव हैं और हर दिन करीब 5 रैलियों को संबोधित कर रहे हैं।

AAP के खाते में नहीं आएगी एक भी सीट

गुजरात में आम आदमी पार्टी की एंट्री पर अमित शाह ने कहा कि यह हर दल का अधिकार है कि वह इलेक्शन लड़े। लेकिन यह जनता के ऊपर है कि वह उसे स्वीकार करती है या नहीं। गुजरात के लोगों के दिमाग में आम आदमी पार्टी कहीं भी नहीं है। चुनाव के नतीजे आने दीजिए। यह भी हो सकता है कि जीतने वाले उम्मीदवारों में उनका कोई भी नाम न हो। कांग्रेस को लेकर शाह ने कहा, ‘वह आज भी गुजरात में मुख्य विपक्षी दल है। लेकिन पार्टी एक संकट के दौर से गुजर रही है और इसका असर गुजरात में भी दिख रहा है।’ भारत जोड़ो यात्रा को लेकर अमित शाह ने कहा कि राजनीति में इस तरह के प्रयास होते रहने चाहिए। 

राहुल गांधी की मेहनत पर बोले- लगातार होने चाहिए प्रयास

अमित शाह ने राहुल गांधी की यात्रा को लेकर कहा, ‘मैं हमेशा से मानता रहा हूं कि नेताओं को कठिन श्रम करना चाहिए। यह अच्छी बात है कि कोई मेहनत कर रहा है। लेकिन राजनीति में निरंतर प्रयास करने से ही सफलता मिलती है। इसलिए देखना होगा कि क्या नतीजे आते हैं।’ राष्ट्रीय सुरक्षा के मसले को राज्य चुनाव में उठाए जाने के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि क्या देश की सुरक्षा से गुजरात अलग है? उन्होंने कहा कि यदि देश ही सेफ नहीं रहेगा तो फिर गुजरात की सुरक्षा कैसे की जा सकती है।



Credit : https://livehindustan.com

Related Articles

Latest Articles

Top News