Government extends deadline to implement 30% cap till December 2024- Hindi DailyNews


|

UPI, डिजिटल लेनदेन की समय सीमा को बढ़ाकर दिसंबर 2024 तक किया गया

UPI, Digital Transactions : नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने शुक्रवार को थर्ड पार्टी के UPI प्लेयर्स के लिए डिजिटल पेमेंट लेनदेन (Transactions) में 30 % वॉल्यूम कैप को दो साल के लिए बढ़ाकर दिसंबर 2024 तक कर दिया है।

यह फैसला Google पे (Google pay) और वॉलमार्ट के PhonePe जैसे थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर (TPAP) को राहत दे सकता है, जिनकी UPI- आधारित लेनदेन में बहुमत हिस्सेदारी है ।

एनपीसीआई यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) चलाता है, जिसका यूज खरीदारी करते समय दोस्तो या व्यापारियों के बीच रीयल-टाइम पेमेंट के लिए किया जाता है।

नवंबर 2020 में, NPCI ने सभी UPI लेनदेन वॉल्यूम के केवल 30 प्रतिशत को संभालने के लिए सिंगल थर्ड पार्टी ऐप को लिमिटेड करने की अनाउंसमेंट की थी। यह कैप 1 जनवरी, 2021 से लागू होनी थी।

हालाँकि, TPAPs (5 नवंबर, 2020 को लाइव) जो कैप को पार कर रहे थे, उन्हें स्टेप-बाय स्टेप तरीके से क्राइटेरिया का पालन करने के लिए दो साल तक का टाइम दिया गया था।

UPI, डिजिटल लेनदेन की समय सीमा को बढ़ाकर दिसंबर 2024 तक किया गया

यूपीआई के मौजूदा यूज और फ्यूचर की एबिलिटी, और अदर रिलेवेंट फैक्टर को ध्यान में रखते हुए, मौजूदा टीपीएपी के परमिशन की समयसीमा (Time restrict) जो वॉल्यूम कैप से ज्यादा है, दो (2) साल यानी 31 दिसंबर, 2024 तक बढ़ा दिया गया है। वॉल्यूम कैप,” एनपीसीआई ने एक सर्कुलर में कहा।

एनपीसीआई ने आगे कहा कि डिजिटल पेमेंट की जरुरी एबिलिटी और इसकी मौजूदा स्थिति से कई गुना पैठ की जरुरत को देखते हुए, यह अनिवार्य (Necessary) है कि अन्य मौजूदा और नए खिलाड़ी (बैंक और गैर-बैंक) अपने कंज्यूमर आउटरीच को बढ़ाएंगे। यूपीआई का विकास और ओवरआल मार्केट इक्विलिब्रियम हासिल करना।

टीपीएपी आमतौर पर यूजर को जोड़ने और उनके लिए पेमेंट प्रोसेस्ड करने के लिए बैंकों के साथ टाई-अप करते हैं। पिछले महीने यह बताया गया था कि एनपीसीआई खिलाड़ियों की वॉल्यूम कैप को 30 प्रतिशत तक सीमित करने के लिए 31 दिसंबर, 2023 तक का समय सीमा को लागू करने के लिए रिजर्व बैंक को प्रोपोसड करने का प्लान बना रहा है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि प्रजेंट में कोई वॉल्यूम कैप नहीं है, जिसके कारण Google Pay और PhonePe का कुल मार्केट शेयर में लगभग 80 प्रतिशत हिस्सा है।

 

Finest Mobiles in India

  • सैमसंग गैलेक्सी S21 FE

    54,999

  • ओपो रेनो7 प्रो 5G

    36,599

  • श्‍याओमी 11T प्रो 5G

    39,999

  • विवो V23 प्रो 5G

    38,990

  • एपल आइफोन 13 प्रो  मैक्‍स

    1,29,900

  • वीवो X70 प्रो प्‍लस

    79,990

  • ओपो रेनो6 प्रो 5G

    38,900

  • रेडमी नोट 10 प्रो मैक्‍स

    18,999

  • मोटोरोला मोटो G60

    19,300

  • श्‍याओमी मी 11 अल्ट्रा

    69,999

  • एपल आइफोन 13

    79,900

  • सैमसंग गैलेक्सी S22 अल्‍ट्रा

    1,09,999

  • एपल आइफोन 13 प्रो

    1,19,900

  • सैमसंग गैलेक्सी A32

    21,999

  • एपल आइफोन 13 प्रो  मैक्‍स

    1,29,900

  • सैमसंग गैलेक्सी A12

    12,999

  • वनप्लस 9

    44,999

  • रेडमी नोट 10 प्रो

    15,999

  • रेडमी 9A

    7,332

  • विवो S1 प्रो

    17,091

  • ओप्‍पो F21s प्रो


    29,999

  • रियलमी C30s


    7,999

  • रियलमी नारजो 50i प्राइम


    8,999

  • हुवावे मेट 50E


    45,835

  • हुवावे मेट 50 प्रो


    77,935

  • मोटोरोला एज 30 फ्यूज़न


    48,030

  • मोटोरोला एज 30  नियो


    29,616

  • हुवावे मेट 50


    57,999

  • विवो Y22


    12,670

  • सोनी एक्‍सपीरिया 5 IV


    79,470

English abstract

UPI, Digital Transactions: The Nationwide Funds Company of India (NPCI) on Friday prolonged the 30% quantity cap in digital cost transactions for third-party UPI gamers for 2 years until December 2024.

Story first printed: Saturday, December 3, 2022, 17:30 [IST]



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News