वाराणसी : समोसा बनाने के लिए कड़ाही में पिता गर्म कर रहा था तेल, मासूम बच्ची की गिरने से मौत 

वाराणसी : समोसा बनाने के लिए कड़ाही में पिता गर्म कर रहा था तेल, मासूम बच्ची की गिरने से मौत 

ख़बर सुनें वाराणसी के कच्चीबाग मुहल्ले में सोमवार को पिता की मिठाई की दुकान में मासूम बच्ची के साथ हुई दर्दनाक घटना ने परिजनों के साथ ही इलाके के लोगों को भी झकझोर कर रख दिया। खौलते तेल की कड़ाही में गिरने से तीन साल की मासूम बच्ची की मौत हो गई।

समोसा बनाने के लिए कड़ाही में पिता गर्म कर रहा था तेल

सूचना पाकर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल है। जैतपुरा थाना अंतर्गत कच्चीबाग मुहल्ले में रहने वाले शमीम अहमद की घर में ही मिठाई की दुकान है। दोपहर में शमीम घर के नीचे बने गोदाम में समोसा छानने के लिए भट्टी पर तेल गर्म कर रहा था।

इसी दौरान उसकी तीन साल की बेटी सुमयारा खेलते हुए कड़ाही के पास पहुंच गई। खेलने के दौरान वह खौलते तेल की कड़ाही में गिर पड़ी। बच्ची के कड़ाही में गिरते ही हड़कंप मच गया। किसी तरह से उसे गर्म तेल की कड़ाही से बाहर निकाल कर कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्पताल ले जाया गया। (समोसा बनाने के लिए कड़ाही में पिता गर्म कर रहा था तेल)

इलाज के दौरान कुछ देर बाद ही मासूम की मौत हो गई। हॉस्पिटल से जैतपुरा थाने को सूचना दी गई। जैतपुरा इंस्पेक्टर शशिभूषण राय ने बताया कि मासूम के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। परिजनों ने बताया कि शमीम की एक बेटी थी और उससे छोटा एक बेटा है।

कोरोना काल में खोली समोसा-लौंगलता की दुकान

परिजनों ने बताया कि शमीम पहले बुनकरी का काम करता था। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण लॉकडाउन घोषित हुआ तो बुनकरी का काम प्रभावित होने के कारण शमीम ने घर में ही समोसा, लौंगलता और मिठाई बनाने का काम शुरू कर दिया। (समोसा बनाने के लिए कड़ाही में पिता गर्म कर रहा था तेल)

उसे क्या पता था कि उसकी दुकान ही उसकी बेटी के लिए काल बन जाएगी। वाराणसी के कच्चीबाग मुहल्ले में सोमवार को पिता की मिठाई की दुकान में मासूम बच्ची के साथ हुई दर्दनाक घटना ने परिजनों के साथ ही इलाके के लोगों को भी झकझोर कर रख दिया।

खौलते तेल की कड़ाही में गिरने से तीन साल की मासूम बच्ची की मौत हो गई। सूचना पाकर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल है। जैतपुरा थाना अंतर्गत कच्चीबाग मुहल्ले में रहने वाले शमीम अहमद की घर में ही मिठाई की दुकान है। (समोसा बनाने के लिए कड़ाही में पिता गर्म कर रहा था तेल)

दोपहर में शमीम घर के नीचे बने गोदाम में समोसा छानने के लिए भट्टी पर तेल गर्म कर रहा था। इसी दौरान उसकी तीन साल की बेटी सुमयारा खेलते हुए कड़ाही के पास पहुंच गई। खेलने के दौरान वह खौलते तेल की कड़ाही में गिर पड़ी। बच्ची के कड़ाही में गिरते ही हड़कंप मच गया।

किसी तरह से उसे गर्म तेल की कड़ाही से बाहर निकाल कर कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान कुछ देर बाद ही मासूम की मौत हो गई। हॉस्पिटल से जैतपुरा थाने को सूचना दी गई। जैतपुरा इंस्पेक्टर शशिभूषण राय ने बताया कि मासूम के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। (समोसा बनाने के लिए कड़ाही में पिता गर्म कर रहा था तेल)

कोरोना काल में खोली समोसा-लौंगलता की दुकान

परिजनों ने बताया कि शमीम पहले बुनकरी का काम करता था। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण लॉकडाउन घोषित हुआ तो बुनकरी का काम प्रभावित होने के कारण शमीम ने घर में ही समोसा, लौंगलता और मिठाई बनाने का काम शुरू कर दिया। उसे क्या पता था कि उसकी दुकान ही उसकी बेटी के लिए काल बन जाएगी।

इन्हें भी पढ़ें :-

  1. वाराणसी : फर्जी मामले में सरकारी अध्यापक एक पैन से दो जगह नौकरी का मामला सामने आया
  2. बीमारी छिपाकर पाँच माह पहले की शादी और अब पत्नी से माँगा किडनी या 25 लाख रूपये
  3. Education News : सितंबर-अक्तूबर में फिर से खोला जा सकते स्कूल, प्राथमिक कक्षाएं घर से ही चलेंगी
  4. वाराणसी में कस्तूरबा विद्यालय के तीन शिक्षक और एक वार्डेन खिलाफ एफआईआर
  5. नई शिक्षा नीति 2020 PM मोदी की अध्यक्षता में सभी स्कूल शिक्षा, बोर्ड एग्जाम, ग्रेजुएशन डिग्री में हुए बड़े बदलाव, जानिए इस 20 पॉइंट से

INSTALL VARANASI NEWS APP FROM GOOGLE PLAY STORE

This image has an empty alt attribute; its file name is Download-Varanasi-Daily-News-Android-Apps.jpg.webp