हाथ जल गया है तो जलन से राहत पाने के लिए मेंहदी के पत्ते के साथ अपनाएं ये 4 घरेलू उपचार


हाइलाइट्स

जले हुए स्थान पर तुरंत आलू रगड़ने से फफोले नही पड़ते हैं.
मेहंदी के पत्ते काफी ठंडे होते हैं, जिससे जलन में तुरंत राहत मिलती है.
विनेगर एस्ट्रिंजेंट जले हुए स्थान पर लगाने से इन्फेक्शन नही होता है.

Treatments for Fast Reduction in Burns – घरों में अक्सर रोजमर्रा की छोटी-मोटी दुर्घटनाएं होती रहती हैं, जिसमें खाना बनाते समय या कोई अन्य काम करते समय हल्का फुल्का हाथ जल जाना सामान्य है. लेकिन हाथ या अन्य स्थान थोड़ा सा जलने पर भी भयानक जलन का सामना करना पड़ता है, जलने पर त्वचा लाल हो जाती है और फफोले पड़ने का खतरा भी बना रहता है. ऐसे में बिना समय गवाएं तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए, लेकिन इससे पहले आप कुछ घरेलू उपचार भी अपना सकते हैं. जिससे जलन में काफी राहत मिलती है और फफोलों का खतरा भी कम हो जाता है. आइए जले हुए स्थान पर जलन और फफोले से राहत पाने के लिए कुछ आसान और कारगर उपचार जानते हैं, 

ये भी पढ़ें: किडनी डिजीज होने पर इन चीजों को डाइट में करें शामिल

जले हुए हाथ में जलन से जल्दी राहत पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार :
मेंहदी के पत्ते – 
मेहंदी के पत्ते काफी ठंडे होते हैं जिनका इस्तेमाल जले हुए स्थान पर करने से जलन से राहत पाई जा सकती है. आपको मेहंदी की पत्तियों को तोड़कर अच्छे से साफ कर लेना है और उसके बाद उसमें नारियल का तेल मिलाकर एक महीन पेस्ट तैयार कर लेना है. जले हुए हाथ में मेहंदी के पत्तों का पेस्ट लगाने से काफी राहत मिलती है.

केला –
जले हुए हाथ पर फफोले पड़ने का खतरा रहता है, इसीलिए जलने के तुरंत बाद एक केले को अच्छे से मैश करके पेस्ट तैयार कर लें और उस पेस्ट को जले हुए स्थान पर क्रीम की तरह लगा लें. ऐसा करने से जलन शांत हो जाती है और फफोले पड़ने का खतरा कम होता है.

कपूर – 
जले हुए स्थान पर कपूर और तारपीन का तेल मिलाकर लगाने से काफी राहत मिल सकती है. इसके लिए आपको कपूर और तारपीन का तेल बराबर मात्रा में लेकर जले हुए स्थान पर लगाना है. ऐसा करने से जलन में तुरंत राहत पाई जा सकती हैं. 

आलू – 
जले हुए स्थान पर जलन से राहत पाने के लिए आलू रगड़ना काफी कारगर माना जाता है. जले हुए हाथ या किसी भी स्थान पर तुरंत आलू रगड़ने और उसका पेस्ट लगाने से फफोले नहीं पड़ते हैं और जलन से राहत मिलती है. 

ये भी पढ़ें: कार्डियोवैस्कुलर डिजीज से बचने के लिए सुबह 11 बजे करें एक्सरसाइज ! हमेशा रहेंगे फिट

विनेगर – 
विनेगर का इस्तेमाल जले हुए स्थान पर करने से काफी आराम मिलता है. विनेगर एस्ट्रिंजेंट और एंटीसेप्टिक होता है जिससे इंफेक्शन से बचाव किया जा सकता है. 1 चम्मच विनेगर में 3 चम्मच पानी डालकर एक घोल तैयार कर लें और उसे कॉटन की मदद से जले हुए स्थान पर लगा लें. ऐसा करने से कुछ देर बाद दर्द में लाभ मिलता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Well being, House Treatments, Life-style



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News