वेट लॉस के लिए फायदेमंद हैं ये 5 हर्ब्स, जानें हेल्थ बेनेफिट्स


हाइलाइट्स

लोग अक्सर वजन कम करने के लिए कई तरह के प्रयास करते हैं.
किचन में रखे आयुर्वेदिक मसाले इस समस्या में काम आ सकते हैं.
ये मसाले शरीर में मेटाबॉलिज्म को तेज करके वजन कम करते हैं.

Greatest Herbs To Lose Weight – भागदौड़ भरी जिंदगी और अनियमित खानपान के चलते आजकल मोटापा एक आम बीमारी का रूप ले चुका है. ऐसे में बढ़ते वजन को लेकर लोग चिंता में आ जाते हैं और कठिन डाइट के साथ साथ जिम करते हैं. लेकिन कई लोगों पर इसका साइड इफेक्ट भी पड़ता है. ऐसे में आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां वेट लॉस में कारगर साबित हो सकती हैं. इनके साइड इफेक्ट कम होते हैं और ये नेचुरली तरीके से शरीर को पर्याप्त पोषण देते हुए वजन घटा सकती हैं.देखा जाए तो वजन घटाने में सहायक कई हर्ब्स हमारे किचन में मसाले के रूप में मौजूद ही हैं. ऐसे में किचन में ही रखी इन जड़ी बूटियों से आसानी से वेट लॉस किया जा सकता है. आइए जानते हैं कि कैसे हर्ब्स की मदद से वजन को कम करने में मदद मिल सकती है.

ये भी पढ़ें:कोरोना पर से पाबंदी हटाए जाने के बाद अस्थमा अटैक का खतरा हुआ दोगुना-स्टडी

 हल्दी
हेल्थ लाइन के अनुसार हल्दी वो मसाला है जो हर घर के किचन में आसानी  से मिल जाएगा. लगभग हर सब्जी में हल्दी का प्रयोग होता है. हल्दी के एंटी इन्फेलेमेंटरी गुण शरीर को पोषण देते हैं. हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन (Curcumin) शरीर में फैट बनने से रोकता है. इतना ही नहीं, हल्दी का सेवन करने से शरीर में  मेटाबॉलिज्म का प्रोसेस तेज होता है जिससे वजन कम होता है. 

त्रिफला
त्रिफला आयुर्वेद में वजन घटाने के लिए काफी कारगर माना जाता है. गर्म मसालों में इसे  शामिल किया जाता है. त्रिफला में फ्लेवोनोइड्स, पॉलीफेनोल्स, सैपोनिन जैसे तत्व पाए जाते  हैं जो मेटाबॉलिज्म को तेज करके खाना पचाने में मदद करते है.  इसके सेवन से पेट जल्दी साफ होता है और रात को इसकी फंकी लेकर सोने से कब्ज जैसी परेशानियों में राहत मिलती है. 

जीरा
जीरे का छौंक सब्जियों में लगता है. सुबह के समय जीरे का उबला हुआ पानी पीने से शरीर के टॉक्सिक तत्व शरीर से बाहर निकलते हैं और फैट नहीं बनता. जीरे में पोषक तत्वों का भंडार है जैसे  विटामिन-सी, विटामिन-के, विटामिन-बी 1, 2, 3, विटामिन-ई, प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, जिंक, कॉपर, आयरन और कार्बोहाइड्रेट.  इसे  फैट बर्नर कहा जाता है. इसके सेवन से पाचन तंत्र सुधरता है और फैट कम बनता है.

दालचीनी
दालचीनी भी मुख्यतौर पर मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने का काम करती है. इसके नियमित सेवन से पेट जमा चर्बी कम होती है. ये पाचन तंत्र को दुरुस्त करती है जिससे वजन नियंत्रण करने में मदद होती है. अगर आप रोज अपने खाने में दालचीनी का सेवन करेंने तो आपको लंबे समय तक भोजन की क्रेविंग नहीं होगी और इससे वजन कंट्रोल में आ जाएगा.

ये भी पढ़ें:सर्दियों के मौसम में छोटे सी जगह पर फ्रेश पुदीना उगाने की आसान विधि

काली मिर्च
माइंडसेटइको डॉट कॉम के मुताबिक काली मिर्च भी किचन में रखी उपयोगी हर्ब है. काली मिर्च में पिपेरिन मौजूद होता है जो शरीर में फैट बढ़ाने वाली कोशिकाओं के निर्माण को रोकता है. दूसरी तरफ काली मिर्च में कैलोरी भी बहुत ही कम मात्रा में होती है इसके सेवन से वजन बढ़ने के चांस खत्म हो जाते हैं. काली मिर्च का सेवन करने से शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ता है। काली मिर्च थर्मोजेनिक भी होती है और इसी वजह से इसके नियमित सेवन से शरीर में मेटाबॉलिज्म की प्रोसेस बढ़ जाती है.

Tags: Well being, Life-style



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News