यूरिक एसिड की समस्या हमेशा के लिए हो जाएगी खत्म ! डॉक्टर से जानें परमानेंट सॉल्यूशन


Finest Suggestions To Management Excessive Uric Acid: वर्तमान समय में यूरिक एसिड (Uric Acid) बढ़ने की समस्या कॉमन हो गई है. सभी उम्र के लोग इस परेशानी का शिकार हो रहे हैं. यूरिक एसिड हमारे लिवर (Liver) में बनने वाला एक वेस्ट प्रोडक्ट होता है, जो किडनी (Kidney) से होते हुए यूरिन के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है. यूरिक एसिड जब नॉर्मल से ज्यादा हो जाता है, तो यह शरीर के छोटे जॉइंट्स में जम जाता है और गाउट (Gout) की समस्या हो जाती है. करीब 5-10 प्रतिशत मामलों में हाई यूरिक एसिड किडनी स्टोनी की वजह बनता है. यूरिक एसिड की समस्या हो लंबे समय तक नजरअंदाज किया जाए, तो यह किडनी फेलियर जैसी गंभीर स्थिति भी बन सकती है. अब सवाल उठता है कि क्या हाई  यूरिक एसिड की परेशानी को इलाज के जरिए हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है? इससे जुड़े सभी बड़े सवालों के जवाब डॉक्टर से जान लेते हैं.

यूरिक एसिड कितना होता है नॉर्मल?

नई दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल के यूरोलॉजी डिपार्टमेंट के सीनियर कंसल्टेंट डॉ. अमरेंद्र पाठक कहते हैं कि पुरुषों में यूरिक एसिड का लेवल 4 से 7 mg/dL तक नॉर्मल माना जाता है. जबकि महिलाओं में 3.5 से 6 mg/dL यूरिक एसिड को सामान्य माना जाता है. जब यूरिक एसिड स्तर सामान्य से ज्यादा हो जाए, तब यह परेशानियों का सबब बनने लगता है. गौर करने वाली बात यह है कि शुरू में यूरिक एसिड के लक्षण कम नजर आते हैं, इसलिए अधिकतर लोग इससे अनजान रहते हैं. जब स्तर ज्यादा बढ़ जाता है, तब इसका टेस्ट कराते हैं. इससे बचने के लिए सभी को समय-समय पर हेल्थ चेकअप जरूर कराना चाहिए. यूरिक एसिड बढ़ जाए और शुरू में ही इलाज किया जाए तो आसानी से कंट्रोल हो सकता है. यूरिक एसिड को लंबे समय तक नजरअंदाज करने की भूल नहीं करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें- जॉम्बी वायरस से आएगी अगली महामारी? वैज्ञानिकों के दावे से मचा तहलका

किन वजहों से बढ़ सकता है यूरिक एसिड?

डॉ. अमरेंद्र पाठक के मुताबिक यूरिक एसिड बढ़ने पर सबसे पहले यह जानना जरूरी होता है कि यह किस वजह से बढ़ रहा है. लिवर और किडनी की बीमारी होने पर यूरिक एसिड बढ़ सकता है. नॉनवेज और हाई प्यूरिन फूड्स का ज्यादा सेवन भी इस समस्या का कारण बन सकता है. कई बीमरियों की वजह से भी यूरिक एसिड का लेवल अबनॉर्मल हो सकता है. यूरिक एसिड बढ़ने पर गाउट (Gout), किडनी स्टोन (Kidney Stone) की समस्या होना आम है. जब यूरिक एसिड हद से ज्यादा बढ़ जाए तो किडनी फेलियर होने का खतरा रहता है. जो लोग पहले से किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, उनके लिए यह जानलेवा साबित हो सकता है.

यह भी पढ़ें- दुनिया में इन 10 बीमारियों से होती हैं सबसे ज्यादा मौतें ! हार्ट डिजीज ‘सुपर किलर’

जड़ से खत्म हो सकती है यूरिक एसिड की समस्या?

डॉक्टर अमरेंद्र पाठक के अनुसार यूरिक एसिड की समस्या को अधिकतर मामलों में सही इलाज, लाइफस्टाइल में जरूरी बदलाव और सही डाइट के जरिए हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है. अधिकतर मामलों में यह पहले की तरह नॉर्मल हो सकता है. यह लाइलाज बीमारी नहीं है. जो लोग लिवर, किडनी या अन्य गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं, केवल उनके लिए हाई यूरिक एसिड सीरियस कॉम्प्लिकेशन पैदा कर सकता है. अगर शुरुआत में ही इसका इलाज कराया जाए तो कुछ महीनों में ही इसे कंट्रोल कर दवाइयों को धीरे-धीरे करके कम किया जा सकता है. पूरी तरह नॉर्मल होने पर डॉक्टर की सलाह पर दवाइयों को बंद भी किया जा सकता है. कुछ लोगों को इस समस्या से छुटकारा पाने में कुछ साल भी लग सकते हैं.

कैसे पाएं यूरिक एसिड से छुटकारा?

– हाई प्रोटीन वाले फूड्स और नॉन वेज से दूरी बनाएं
– खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए खूब पानी पीएं
– अपनी डाइट में लिक्विड चीजों को शामिल करें
– हर दिन कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज करें
– लाइफस्टाइल को बेहतर बनाने की कोशिश करें
– अपना वजन और ब्लड शुगर मेंटेन रखें
– एल्कोहल से दूरी बनाना फायदेमंद रहेगा
– डॉक्टर द्वारा दी गई दवाइयां समय पर लें
– डॉक्टर की सलाह के बिना दवाइयां बंद न करें
– समय-समय पर अपना हेल्थ चेकअप कराएं
– परेशानी होने पर फिजीशियन या नेफ्रोलॉजिस्ट से मिलें

Tags: Well being, Way of life, Trending information



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News