मेनोपॉज में मुहांसों से हैं परेशान, तो अपनाएं ये डेली रुटीन


हाइलाइट्स

मुहांसे होने पर स्किन को क्‍लीन रखना बेहद जरूरी होता है.
मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए योग का अभ्‍यास कर सकते हैं.
मेनोपॉज के दौरान स्किन से संबंधित कई समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है.

Every day Routine In Menopause- मेनोपॉज एक नेचुरल प्रोसेस है जिसके कारण शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं. मेनोपॉज के दौरान या बाद में स्किन पर मुहांसे, पैचेज और पिगमेंटेशन की समस्‍या हो सकती है. स्किन में होने वाले बदलाव हार्मोनल चेंजेज के कारण हो सकते हैं. 40 से 45 साल की उम्र में मेनोपॉज की समस्‍या होती है, जिस वजह से कई बार महिलाएं स्किन की सही देखभाल नहीं कर पातीं. नतीजतन स्किन बेजान और मुहांसों वाली हो जाती है. उम्र के इस पड़ाव में मुहांसे होना महिलाओं के आत्‍मविश्‍वास और चेहरे की रौनक को कम कर सकते हैं, इसलिए इसकी सही देखभाल करना जरूरी है. मुहांसों की समस्‍या से छुटकारा पाने के लिए महिलाओं को डेली स्किन केयर रुटीन फॉलो करना होगा. चलिए जानते हैं कैसा होना चाहिए मेनोपॉज के दौरान महिलाओं का स्किन केयर रुटीन.

हेल्‍दी स्किन के लिए करें प्राणायाम
मेनोपॉज के दौरान मुहांसे आना आम बात है जो हार्मोनल चेंजेज के कारण हो सकता है. स्किन केयर प्रोडक्‍ट स्किन को आउटर प्रोटेक्‍शन दे सकते हैं लेकिन स्किन को हेल्‍दी बनाए रखने के लिए प्राणायाम का अभ्‍यास किया जा सकता है. प्राणायाम करने से स्किन सेल्‍स को रिपेयर करने में मदद मिल सकती है साथ ही शरीर भी स्‍वस्‍थ रहेगा. स्किन हेल्‍थ के लिए भ्रामरी, कपाल भांति, हलासन और सर्वांगासन किया जा सकता है.

मेनोपॉज कैसे स्किन को प्रभावित करती है
हेल्‍थलाइन के अनुसार मेनोपॉज एस्‍ट्रोजन के स्‍तर को घटा देता है जो स्किन में परिवर्तन का कारण बन सकती है.
–  कोलेजन उत्‍पादन में कमी
–     फाइन लाइंस
–     पतली या ढीली स्किन
–     ड्राईनेस
–     चेहरे पर बाल
–     मुहांसे
–     सनस्‍पॉट
–     झुर्रियां

कैसा होना चाहिए मेनोपॉज में डेली रुटीन
जैसे-जैसे महिलाओं के शरीर में बदलाव होता है, वैसे-वैसे स्किन की देखभाल करने की आवश्‍यकता बढ़ती जाती है. स्किन को बेहतर बनाने के लिए जरूरी नहीं कि महंगी क्रीम, लोशन और सीरम  का प्रयोग किया जाए. स्किन को हेल्‍दी बनाने के लिए सामान्‍य उत्‍पादों का इस्‍तेमाल किया जा सकता है. मेनोपॉज के दौरान स्‍किन की देखभाल करने के लिए डेली स्किन रुटीन फॉलो किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: अपने ब्लेडर को हेल्दी बनाए रखने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

  • फेस को साफ करने के लिए गुनगुने पानी और सेरामाइड्स, हाइलूरोनिक एसिड या ग्लिसरीन वाले माइल्‍ड क्‍लींजर से धोएं.
  • डेली फेस पर 30 या उससे अधिक एसपीएफ वाले सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल करें.
  • धूप के संपर्क में अधिक समय तक रहने की स्थिति में हर दो घंटे में सनस्‍क्रीन एप्‍लाई करें.
  • रात में सोने से पहले क्‍लींजर और पेप्‍टाइडयुक्‍त एंटी-एजिंग प्रोडक्‍ट लगाएं
  • स्किन पर अधिक केमिकलयुक्‍त प्रोडक्‍ट का प्रयोग न करें.
  • सेरामाइड्स, हाइलूरोनिक एसिड और ग्लिसरीन वाले प्रोडक्‍ट नमी को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं.
  • ये फाइन लाइंस और झुर्रियों को कम कर सकते हैं.
  • मेनोपॉज के दौरान स्किन में कई तरह के बदलाव आ सकते हैं. इन बदलावों से निपटने और छुटकारा पाने के लिए स्किन केयर रुटीन अपनाया जा सकता है. स्किन पर किसी भी चीज का इस्‍तेमाल करने से पहले एक्‍सपर्ट से संपर्क करें.

ये भी पढ़ें: लंबी उम्र तक हेल्‍दी और यंग दिखने के लिए ये हैं कारगर ट्रिक्‍स, डॉक्‍टरों ने बताया तरीका

Tags: Magnificence Suggestions, Well being, Way of life



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News