बच्चा चीजें बार बार खो देता है तो यूं कीजिए मैनेज ताकि चीजों को सही रखने की आए समझ


हाइलाइट्स

बच्चों में अपनी चीजों को याद ना रखने की आदत होती है
कई बच्चे स्कूल और अन्य जगहों पर चीजें भूल आते हैं
मां बाप बच्चे को चीजों को सही से मैनेज करने की ट्रेनिंग दे सकते हैं.

Handle Child’s Drawback-जिन घरों में बच्चे होते हैं वहां आमतौर पर चीजें खोना कॉमन सी बात होती है. लोग समझते हैं कि छोटे बच्चे चीजों को इसलिए खो देते हैं कि वो भूल जाते हैं. लेकिन धीरे धीरे बच्चों की ये आदत बन जाती है और वो ज्यादा चीजें खोने लगते हैं. पेरेंट चाहें तो कुछ तरीकों से इसे मैनेज करके बच्चे को चीजों को सही रखने की समझ दे सकते हैं. छोटा बच्चा कभी स्कूल में अपनी स्टेशनरी का सामान खो आता तो कभी खेलते वक्त अपने खिलौने खो आता है. ऐसे में उसे कैसे याद रहे कि उसे चीजों को खोना नहीं सहेजना है. ये समझाना मां बाप का काम है और वो ही इसे किसी बच्चे को सही तरीके से समझा सकते हैं. चलिए जानते हैं कुछ टिप्स जिनकी मदद से आप अपने बच्चे को उनकी वस्तुओं को सही तौर पर मैनेज करना सिखा सकते हैं जो जीवन में आगे जाकर उनके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा.  

ये भी पढ़ें: लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में बनाए रखना चाहते हैं प्यार तो इन टिप्स को अपनाना न भूलें

चीजों की अहमियत बताइए
बच्चे को चीजों की अहमियत सिखाइए. उसे बातों बातों में बताइए कि ये चीज कितनी प्यारी है, उसे कितने जतन और प्यार से लाया गया है और ये केवल उसी बच्चे के लिए बनाई गई है. इससे बच्चा उस वस्तु से इमोशनली जुड़ेगा और उसका ध्यान रखने के लिए प्रेरित होगा. 

चीजें पहचानना सिखाएं
ब्लैक लिस्ट पैरंट डॉट कॉम के मुताबिक बच्चों के लिए जब आप उनकी चीजें लेकर आते हैं तो उनके फेवरेट कलर में लेकर आएं, इससे बच्चे का ध्यान उस चीज पर लगा रहेगा. उसे बताएं कि उसका फेरवेट कलर किन किन चीजों में है. कई बार चीजों की बनावट के चलते भी बच्चों का फोकस उन चीजों पर ज्यादा रहता है. आपने देखा होगा कि बच्चों की स्टेशनरी, उनके खिलौने कितनी अतरंगी बनावट लिए होते हैं, इसके पीछे यही वजह है कि बच्चा उस चीज को याद रखे. 

ये भी पढ़ें: Breakfast Recipe: हेल्थ कॉन्शियस लोगों के लिए बेस्ट है ‘मखाना कटलेट’ इस टेस्टी नाश्ते की रेसिपी है बेहद आसान

कहीं से ADHD से जुड़ा मामला तो नहीं ?
जिसे आप बच्चे का बचपना समझ रहे हैं वो ADHD डिसऑर्डर का एक हिस्सा हो सकता है. इस डिसऑर्डर में अक्सर बच्चे अपना सामान खोते रहते हैं. उदाहरण के लिए बच्चा बेट लेकर खेलने गया तो बेट वहीं छोड़ आया, स्कूल में पैंसिल, लंच बॉक्स, बॉटल छोड़ आया. अगर ये कभी होता है तो ठीक लेकिन अक्सर होता है और समझाने पर भी बच्चा ध्यान नहीं रख पा रहा तो इसके पीछे ADHD डिसऑर्डर हो सकता है. इस स्थिति में बच्चा कई मेंटल स्थितियों से गुजरता है और उसके फोकस में कमी रहती है.

Tags: Way of life, Parenting, Parenting suggestions



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News