पित्त की पथरी के लिए बेस्ट फूड ऑप्शंस यहां जानिए


हाइलाइट्स

मैग्नीशियम युक्त खट्टे फल गॉल ब्लैडर की समस्याओं से बचाव करने में सहायक है.
पित्त की पथरी में फाइबर युक्त फूड्स जैसे फल और सब्जियां खानी चाहिए.
पित्त की पथरी में ज्यादा से ज्यादा प्लांट बेस्ड फूड का सेवन करें.

Meals to Eat in Gallbladder Stone : गॉल ब्लैडर स्टोन यानी पित्त की पथरी होना आजकल आम हो गया है. पित्त की पथरी होने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन ऐसे में व्यक्ति को भयानक दर्द का सामना करना पड़ता है. कई बार पित्त की पथरी को दवाइयों से ठीक किया जा सकता है, लेकिन कई बार स्थिति गंभीर होकर बात सर्जरी तक पहुंच जाती है. डॉक्टर्स और हेल्थ एक्सपर्ट्स पित्त की पथरी से पीड़ित लोगों को खाने-पीने का खास ख्याल रखने की सलाह देते हैं. पित्त की पथरी से पीड़ित लोगों को डाइट में फाइबर और विटामिन सी की मात्रा को बढ़ाकर सैचुरेटेड फैट्स और कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा को सीमित करना चाहिए. पथरी की समस्या में लाइट और हेल्दी फूड का सेवन करने से गॉल ब्लैडर पर पड़ने वाले स्ट्रेस को कम करके पथरी के कारण होने वाले दर्द और लक्षणों से बचाव किया जा सकता है. आइए जानते हैं, पित्त की पथरी में किन फूड्स का सेवन करना चाहिए.

पित्त की पथरी के लिए बेस्ट फूड ऑप्शंस
फार्मेसी डॉट इन ब्लॉग के अनुसार, पित्त की पथरी से पीड़ित लोगों को खाने पीने का खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है. इन फूड्स का सेवन पथरी को निकालने या सर्जरी से बचने के लिए नहीं, बल्कि पथरी के कारण होने वाले दर्द, लक्षणों और गॉल ब्लैडर पर स्ट्रेस को कम करने के लिए किया जाता है.

प्लांट बेस्ड फूड्स 
सभी प्लांट बेस्ड फूड्स सेहतमंद रहने के लिए जरूरी न्यूट्रिएंट्स से भरपूर होते हैं. ये फूड्स विटामिंस, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं, जो शरीर से सभी टॉक्सिंस को बाहर निकालने में सहायक होते हैं. प्लांट बेस्ड फूड्स डाइजेस्ट करने में आसान होते हैं, जो गॉल ब्लैडर पर स्ट्रेस को कम करते हैं.

लीन प्रोटीन 
प्रोटीन और लो सैचुरेटेड फैट का सही मात्रा में सेवन करने से शरीर का बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है और गॉल ब्लैडर पर स्ट्रेस भी कम होता है. पित्त की पथरी के लिए बेस्ट लीन प्रोटीन में आप :
मिल्क और डेयरी प्रोडक्ट्स, नट्स और सीड्स, आमंड मिल्क, ओट्स मिल्क और सोया मिल्क जैसी पोष्टिक चीजों का सेवन कर सकते हैं.

फाइबर युक्त फूड्स 
फाइबर डाइजेस्टिव सिस्टम को हेल्दी बनाए रखने के लिए बेहद जरूरी होता है. पर्याप्त मात्रा में फाइबर युक्त फूड्स का सेवन करने से बाइल एसिड कम रिलीज होता है और गॉल ब्लैडर का स्ट्रेस भी कम होता है. पित्त की पथरी के लिए फाइबर युक्त फूड्स जैसे, फल और सब्जियां, लेंटिल्स, छोले और चने,
नट्स, सीड्स और साबुत अनाज.

इसे भी पढ़ें – क्या डायबिटीज मरीजों को शराब एकदम नहीं पीनी चाहिए? जानें क्या है सच्चाई

इसे भी पढ़ें: फूल के बर्तनों के बारे में जानते हैं आप? इनके इस्तेमाल से मिलते हैं ये फायदे

Tags: Well being, Wholesome Meals, Life-style



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News