नवजात बच्‍चे भी होते हैं एक्‍ने के शिकार, इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज


हाइलाइट्स

स्किन पर दिख सकते हैं लाल दानें.
कई बार दानों में हो सकती है खुजली.
बैक्‍टीरिया या इंफेक्‍शन के कारण हो सकते हैं दानें.

Signs Of Child Zits: टीनएजर में एक्‍ने यानी मुहांसे होना आम बात है लेकिन नवजात बच्‍चों में भी इसके लक्षण देखे जा सकते हैं. बच्‍चों में होने वाले मुहांसों को नियोनेटेल सेफिलिक पस्‍टुलोसिस कहा जाता है. बच्‍चों में मुहांसे होने की कोई खास वजह नहीं होती लेकिन ये किसी प्रकार के इंफेक्‍शन या बैक्‍टीरिया के कारण हो सकते हैं. इन मुहांसों में पस नहीं होता, ये चेहरे या हाथों पर लाल दानों के रूप में दिखाई देते हैं. सामान्‍यतौर पर बेबी एक्‍ने अपने आप ही ठीक हो जाते हैं लेकिन यदि इनमें खुजली या लालपन बढ़ जाए तो इसका ट्रीटमेंट कराना जरूरी होता है. ये समस्‍या पांच में से एक बच्‍चे को हो सकती है. बेबी एक्‍ने की समस्‍या 2 से 12 महीने के बच्‍चों को अधिक होती है. लेकिन कुछ मामलों में ये समस्‍या 5 साल तक देखी जा सकती है.
हालांकि इस प्रकार के एक्‍ने हानिरहित होते हैं लेकिन उनके लक्षणों को नजरअंदाज करना समस्‍या को बढ़ा भी सकता है. चलिए जानते हैं इनके लक्षणों के बारे में.

ये भी पढ़ें: ओवरईटिंग और मोटापे को रोकने के लिए कारगर है हाई प्रोटीन ब्रेकफास्ट, जानें कैसे

लाल चकत्‍ते
नवजात बच्‍चों की स्किन काफी नाजुक और कोमल होती है. इन्‍हें किसी भी तरह का इंफेक्‍शन आसानी से हो सकता है. क्‍लीवलैंड क्‍लीनिक के अनुसार बेबी एक्‍ने 2 से 12 महीने के बच्‍चों को अधिक हो सकते हैं. इस उम्र में बच्‍चों की स्किन सेंसिटिव होती है जो किसी भी इंफेक्‍शन को आसानी से ग्रहण कर लेती है. एक्‍ने होने पर बच्‍चों की स्किन पर लाल चक्‍कते उभर सकते हैं. जो सामान्‍यतौर पर पस रहित होते हैं.

गाल हो सकता है लाल
एक्‍ने होने की स्थिति में बच्‍चों की स्किन लाल दिखाई पड़ती है. कई बार एक्‍ने उभरे हुए नहीं होते लेकिन स्किन पर लाल पैच जरूर दिख सकते हैं. ये पैच ड्राई होते हैं, इनकी स्किन फ्लैक्‍स के रूप में भी निकल सकती है.

ये भी पढ़ें: अधिक पसीना आने से क्या झड़ सकते हैं बाल ? जानिए 3 जरूरी टिप्स

प्रोडक्‍ट से एलर्जी
बेबी एक्‍ने कई कारणों की वजह से हो सकते हैं. जिसमें से अहम कारण है किसी स्किन या बेबी प्रोडक्‍ट से एलर्जी. किसी प्रोडक्‍ट से एलर्जी होने पर स्किन में दानें, रैशेज और खुजली हो सकती है. कई बार ये समस्‍या अंडरआर्म और अंडरथाईज पर भी देखी जा सकती है. जिसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता.
नवजात शिशुओं में एक्‍ने की समस्‍या कई बार बैक्‍टीरिया और इंफेक्‍शन के कारण हो जाती है. जिसकी सही देखभाल करना बेहद जरूरी है. एक्‍ने होने पर चिकित्‍सक से अवश्‍य परामर्श करें.

Tags: Child Care, Well being, Way of life



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News