दवाओं को कूड़े में फेंकना हो सकता है बेहद खतरनाक, जानें डिस्पोज करने का सही तरीका


हाइलाइट्स

बची हुई दवाओं को आप खुले में फेंकने से बचें.
कुछ दवाओं को आप टॉयलेट में फ्लश कर सकते हैं.

The best way to safely eliminate treatment: आमतौर पर यह देखा जाता है कि लोग घर पर बची दवाओं और यूज की गई सिरिंज, ग्‍लब्‍स आदि को डस्टबिन में फेंक देते हैं. क्‍या आप जानते हैं कि आपकी ये फेंकी गई चीजें पर्यावरण, जानवरों व कूड़ा बीनने वाले बच्‍चों के लिए कितना खतरनाक साबित हो सकती हैं? जी हां, इस्‍तेमाल की गई दवाओं, एक्‍सपायर हो चुकी गोलियों, सिरिंज और इनहेलर आदि का उचित तरीके से डिस्‍पोज करना बहुत ही जरूरी है. फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) भी इस बात को मानता है और लोगों में इससे जुड़ी जानकारी देने के लिए दिशा निर्देश जारी करता है. सभी को इस बारे में कुछ जरूरी बातें जान लेनी चाहिए.

सही तरीके से डिस्‍पोज करना क्‍यों जरूरी?
मेडिकल न्‍यूज टुडे के अनुसार कुछ दवाएं उन लोगों के लिए बहुत खतरनाक या घातक हो सकती हैं, जो कूड़ा बीनते हैं. यही नहीं आवारा कुत्‍तों या सड़कों पर घूमने वाले जानवरों को भी ये काफी नुकसान पहुंचा सकती हैं. इसके अलावा ये उस जगह के पानी की गुणवत्‍ता को भी प्रभावित कर सकती हैं, जिसके प्रभाव में जानवर आसानी से आ सकते हैं.

इस तरह दवाएं करें डिस्‍पोज

ड्रग टेक-बैक स्थान का करें उपयोग
अगर आपके पास कुछ दवाएं बच गई हैं तो सबसे अच्छा तरीका यह है कि इसे आप डीईए-पंजीकृत दवा संग्रह स्थान पर ले जाएं. वहां, प्रशिक्षित हैंडलर इसे सुरक्षित रूप से डिस्‍पोज कर देंगे. आप इसकी जानकारी इंटरनेट से ले सकते हैं. यहां आप प्रिस्क्रिप्शन दवाएं, ओवर-द-काउंटर दवाएं, विटामिन्‍स, सेप्‍लीमेंट दवाओं आदि को दे सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : ईवनिंग शिफ्ट में काम करने से मेंटल हेल्थ पर पड़ता है बुरा असर, बढ़ सकता है तनाव

फ्लश कर दें
कुछ ऐसी दवाएं भी होती हैं जिन्‍हें कूड़ेदान में फेंकने की जगह आप टॉयलेट में फ्लश कर डिस्‍पोज कर सकते हैं. एफडीए के मुताबिक, बेंज़हाइड्रोकोडोन, बुप्रेनॉर्फिन, हाइड्रोकोडोन, मेपरिडीन, मेथाडोन, अफ़ीम, ऑक्सीकोडोन, सोडियम ऑक्सीबेट, टेपेंटाडॉल वाली दवाएं किसी को भी नुकसान पहुंचा सकती हैं. इन्‍हें आप टॉयलेट में फ्लश कर सकते हैं. एफडीए का मानना ​​​​है कि इन दवाओं का अनुचित तरीके से इस्तेमाल घातक हो सकता है और पर्यावरण के लिए भी नुकसानदायक हो सकता है.

किन दवाओं को कूड़ेदान में डालें?
अगर दवाओं पर खतरा या किसी तरह का डिस्‍पोजिबल दिशा निर्देश नहीं दिया गया है तो आप इसे कूड़ेदान में फेंक सकते हैं. इस बात का ध्‍यान रखें कि वे किसी जानवर, इंसान के डायरेक्‍ट संपर्क में ना आएं.

इस तरह करें डिस्‍पोज
-सबसे पहले इन प्रोडक्‍ट के पैकेजिंग पर बताए गए निर्देश का पालन करें.
-अगर ये एक्‍सपायर हो गए हैं तो इसे पैकेजिंग से निकाल लें और तोड़ने के बाद फेकें.
-दवा को एक सीलबंद प्लास्टिक बैग या अन्य सीलबंद कंटेनर में रखें और इसे डिस्‍पोज करें.
-खाली बोतल या अन्य पैकेजिंग को रीसाईकिल करें.

ये भी पढ़ें: स्किन और हेयर के लिए ऐसे करें गुड़ का इस्तेमाल, फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान

सुई और सिरिंज का डिस्‍पोज
लोगों या जानवरों को इसकी चपेट में आने से बचाने के लिए सही तरीके से डिस्‍पोज करना जरूरी है. आप इन्‍हें किसी कंटेनर में रखें और अस्‍पताल, क्‍ल‍ीनिक, डॉक्‍टर चेंबर, दवा की दुकान आदि ऐसी जगह इसे फेंकें जहां से इसे सही तरीके से डिस्‍पोज करने के लिए कलेक्‍ट किया जाता हो.

इनहेलर को इस तरह करें डिस्‍पोज
इनहेलर को भी सही तरीके से डिस्‍पोज नहीं करने से भी खतरा हो सकता है. इसलिए इन्‍हें अच्‍छी तरह से तोड़कर या आग में भस्मकर फेंक दें. आप अपने आसपास के रीसाइकिल सेंटर या क्‍लीनिंग आदि जगहों पर भी इसे फेंक सकते हैं. इन्‍हेलर के पैकेजिंग पर इसके डिस्‍पोज करने की जानकारी को जरूर फॉलो करें.

Tags: Well being, Life-style



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News