क्या एक्जिमा में नीम का तेल हो सकता है फायदेमंद? यहां जानें जरूरी बातें


हाइलाइट्स

नीम का तेल स्किन की कई परेशानियों से बचाने में कारगर होता है.
यह तेल एक्जिमा से होने वाली खुजली को कम करने में मददगार है.

How To Use Neem Oil In Eczema: नीम सदियों से पारंपरिक और प्राकृतिक औषधियों का हिस्‍सा रहा है. आयुर्वेद में इस औषधीय जड़ी बूटी को सभी बीमारियों का इलाज माना जाता है. विशेष तौर पर एक्जिमा के लिए ये वरदान से कम नहीं है. एक्जिमा के लिए नीम का उपयोग स्थिति को प्रबंधित करने, ठीक करने और फ्लेयर-अप को रोकने का एक प्रभावी तरीका है. नीम के बीज का तेल एंटी-ऑ‍क्‍सीडेंट और फ्लेवोनोइड्स से भरपूर होता है जो एक्जिमा से होने वाली खुजली, लालपन और ड्राईनेस को कम कर सकता है. नीम के तेल का नियमित प्रयोग करने से कई सूजन संबंधी बीमारियों को रोका जा सकता है. लेकिन एक्जिमा पर नीम का तेल किस प्रकार इस्‍तेमाल किया जाना चाहिए इसकी जानकारी होना बेहद जरूरी है. कई बार गलत उपचार से नुकसान भी पहुंच सकता है. चलिए जानते हैं नीम के तेल का किस प्रकार करें प्रयोग.

एक्जिमा में कैसे करें नीम के तेल का प्रयोग
नीम के तेल में एंटी-इनफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्‍टीरियल, एंटी-एलर्जि‍क कंपोनेंट होते हैं जो किसी भी प्रकार की खुजली और सूजन को कम कर सकते हैं. वैरीवैल हेल्‍थ के अनुसार एक्जिमा में नीम के तेल का प्रयोग फायदेमंद हो सकता है. ये स्किन को स्‍मूथ और चिकना बनाने में मदद करता है. साथ ही खुजली से भी बचाता है.नीम के तेल का डायरेक्‍ट स्किन पर लगाने से साइड इफेक्‍ट हो सकते हैं इसलिए इसे अन्‍य उपयोगी चीजों के साथ मिलाकर लगाया जा सकता है.

नीम और हल्‍दी
हल्‍दी और नीम का तेल एंटी-सेप्टिक लोशन का काम कर सकता है. नीम के तेल में हल्‍दी और शहद मिलाकर लगाने से लाभ मिल सकता है. इस मिश्रण को प्रभावित क्षेत्र पर लगभग 20 मिनट के लिए लगा रहने दें फिर धो लें. इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल प्रॉपर्टीज खुजली में राहत दे सकती है.

नीम और नारियल का तेल
नीम और नारियल का तेल स्किन को स्‍मूथ और क्‍लीन करने में मदद कर सकता है. नीम और नारियल तेल को मिलाकर एक्जिमा पर लगाने से आराम मिल सकता है. दोनों में ही एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल प्रॉपर्टीज होती हैं जो स्किन को क्‍लीन करने का काम करती हैं. इसके नियमित इस्‍तेमाल से स्किन स्‍मूथ भी बन सकती है.

ये भी पढ़ें- ज्यादा पानी पीने से हुई थी ब्रूस ली की मौत ! जानें कैसे जहर बन सकता है पानी

नीम और ग्रेपसीड का तेल
नीम और ग्रेपसीड ऑयल बहुत ही पॉवरफुल औषधियां हैं जो स्किन की किसी भी समस्‍या को कम कर सकती हैं. ग्रेपसीड ऑयल में विटामिन-ई, बीटा-कैरोटीन और एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं जो स्किन की ड्राईनेस और खुजली को कम कर सकते हैं. इन दोनों के मिश्रण से बने तेल को प्रभावित जगह पर लगाकर रातभर के लिए छोड़ा जा सकता है.

ये भी पढ़ें: सर्दियों में हल्दी वाला दूध सेहत के लिए फायदेमंद ! डाइटिशियन से जानें इसके फायदे

एक्जिमा के लक्षण
गाल, पैर और हाथों पर लाल चकत्‍ते
सूजन
ड्राई स्किन
स्किन पर पपड़ी
दरारें
खुजली
स्किन में लालपन

Tags: Well being, Life-style, Skincare



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News