आपने कभी खाया है हरा सेब? एक बार खाएंगे तो दीवाने हो जाएंगे, डायबिटीज समेत इन 4 बीमारियों से रहेंगे कोसों दूर


हाइलाइट्स

हर दिन एक हरा सेब खाने से डाइजेस्टिव हेल्थ को इंप्रूव किया जा सकता है.
हरे सेब में मौजूद पोषक तत्व कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ को बेहतर बना सकते हैं.

Well being Advantages Of Inexperienced Apples: सेब खाने के फायदे के बारे में तो आपने कई बार सुना होगा. पुरानी कहावत भी है कि अगर आप रोज एक सेब खाएंगे तो आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. सेब में कई पोषक तत्व होते हैं, जो हमारे शरीर को फिट रखते हैं और बीमारियों से बचाव होता है. क्या आप जानते हैं कि लाल सेब (Crimson Apple) के बजाय हरा सेब (Inexperienced Apple) खाना ज्यादा फायदेमंद होता है. सुनकर चौक रहे होंगे, लेकिन यह बात काफी हद तक सही है. हरा सेब डायबिटीज (Diabetes) समेत कई गंभीर बीमारियों से बचा सकता है.

पिछले कुछ समय में हरा सेब खाने का ट्रेंड भी तेजी से बढ़ा है और लोग इस सेब को खाना ज्यादा पसंद कर रहे हैं. बाजारों में भी आपको हरा सेब आसानी से मिल जाएगा. हरा सेब देखने में जितना आकर्षक लगता है, उतना ही खाने में यह टेस्टी भी होता है. अगर आप एक बार हरा सेब खाएंगे तो बार-बार खाने का मन करेगा. अगर आपने भी अब तक हरा सेब टेस्ट नहीं किया, तो एक बार जरूर खाकर देखें. इससे ना सिर्फ आपको बेहतरीन स्वाद मिलेगा, बल्कि सेहत को कई फायदे होंगे. आज आपको हरे सेब के हेल्थ बेनिफिट्स बता रहे हैं.

हरा सेब खाने के फायदे जान लीजिए

हरा सेब विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम और आयरन का बढ़िया स्रोत माना जाता है. वेब एमडी की रिपोर्ट के मुताबिक इसमें मौजूद पोषक तत्व हार्ट हेल्थ को इंप्रूव करते हैं और कार्डियोवैस्कुलर डिजीज का खतरा कम कर देते हैं. इसमें डाइटरी फाइबर होता है, जिससे बैड कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिलती है. अगर आप हार्ट के मरीज हैं, तो डॉक्टर की सलाह के बाद ग्रीन एप्पल का सेवन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें-  ज्यादा नमक खाने से हो सकता है किडनी स्टोन, 5 तरीके अपना लें, कभी नहीं होगी समस्या

– अगर आप रोज 1-2 हरा सेब खाएंगे तो इससे टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा भी कम हो जाएगा. एक रिसर्च में यह बात सामने आई थी कि हर हिस्से में मौजूद कंपाउंड डायबिटीज का खतरा कम करते हैं. हालांकि यह किस कंपाउंड की वजह से होता है, इसके बारे में अभी ज्यादा रिसर्च करने की जरूरत है. कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि डायबिटीज के मरीज भी एक निश्चित मात्रा में इसका सेवन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- जड़ से खत्म हो जाएगी हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या, घर की इन चीजों से तैयार करें ‘दवा’

– ग्रीन एप्पल में पेक्टिन नाम का एक कंपाउंड पाया जाता है, जो प्रीबायोटिक की तरह काम करता है और आपकी आंतों में हेल्दी बैक्टीरिया को प्रमोट करता है. इससे खाना आसानी से पच जाता है और आपको पेट की समस्याएं नहीं होतीं. यह पाचन तंत्र को सही करता है और हेल्थ को दुरुस्त रखता है.

– ग्रीन एप्पल में फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है, जो कब्ज और डायरिया की समस्या से आराम दिलाता है. जिन लोगों को इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम या कोई डाइजेस्टिव डिसऑर्डर है, उन्हें ग्रीन एप्पल का सेवन जरूर करना चाहिए. फाइबर वाले फूड्स इन समस्याओं से राहत दिलाने में मददगार साबित होते हैं.

Tags: Diabetes, Well being, Way of life, Trending information



Source link

Related Articles

Latest Articles

Top News